डेरा प्रमुख राम रहीम की करनी की सजा डेरे के स्कूलों के छात्रो नहीं दी जा सकती:विज

हिंसा में मारे गए लोगों को भी मिले मुआवजा

चंडीगढ़(JT NEWS TEAM), 23 सितंबर:- पंचकूला में हुई हिंसा के दौरान मारे गए लोगों को मुआवजा देने का मुद्दा लगातार तूल पकड़ रहा है। एक ओर जहां मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने साफ कर दिया है कि मुआवजे पर फैसला कोर्ट के आदेशानुसार होगा, वहीं कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने मारे गए लोगों को मुआवजे की मांग दोहरा दी है।
उल्लेखनीय है कि विज के डेरे के प्रति उदार रुख पर विपक्ष हमलावर मुद्रा में है। विपक्ष के नेता अभय चौटाला ने इस मुद्दे पर बीजेपी सरकार और खासतौर पर विज पर निशाना साधा हुआ है। अभय ने कहा था कि आईएनएलडी की सरकार बनने पर बीजेपी के मंत्रियों द्वारा डेरे को दिए गए पैसे की वसूली ब्याज समेत की जाएगी।

लेकिन इस सबसे बेपरवाह अनिल विज ने अब इस मुद्दे पर डेरे स्कूलों में पढ़ रहे मेधावी खिलाडिय़ों का पक्ष लेते हुए अभय चौटाला पर पलटवार करते हुए कहा कि डेरे के स्कूलों में पढ़ाई कर रहे मेधावी छात्रों को डेरा प्रमुख राम रहीम की करनी की सजा नहीं दी जा सकती। डेरे के स्पोर्ट्स स्कूल की खेल में अच्छी गतिविधियां रही हैं। वहां के खिलाडिय़ों ने भीम अवॉर्ड तक हासिल किए हैं, इसलिए मेधावी छात्रों को सहयोग जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि खेल विभाग के अधिकारी डेरा प्रकरण से पहले सिरसा में गए थे और गतिविधियों की पड़ताल की थी। स्पोर्ट्स स्कूल मापदंडों पर उचित पाया है।

विज ने कहा कि डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को अपनी करनी का फल मिल चुका है। उन्होंने कहा कि अगर किसी सरकारी विभाग को कोई अधिकारी गलत काम करता है तो सजा उसके संस्थान में काम कर रहे कर्मचारियों व छात्रों को नहीं दी जा सकती है।

उन्होंने पंचकूला हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों को मुआवजे की मांग दोहराते हुए कहा कि हिंसा में कई लोग ऐसे भी मारे गए जिनके परिवार में आजीविका चलाने वाला कोई नहीं बचा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*