गैस सिलेंडर पर लिखा ये नम्बर है बेहद महत्वपूर्ण, पर 99% लोग हैं इस बात से अनजान

नई दिल्ली (JT NEWS TEAM), 12 अक्टूबर:- आधुनिक सुविधाएं मानव जीवन के लिए जितनी लाभदायक है उतनी ही खतरनाक भी हैं। गैस सिलेंडर भी ऐसी ही चीज है। रसोई गैस के प्रयोग से महिलाओं का जीवन आसान तो हो गया है पर इसके खतरे भी कम नही है। आए दिन गैस सिलेंडर फटने से होने वाली भयानक दुर्घटनाओं की खबर सुनने को मिलती रहती है। ऐसे में इसका इस्तेमाल करते समय हमें आवश्यक सावधानी बरतनी चाहिए जैसे कि ज़रा सी भी लीकेज की आशंका हो तो उसे नजर अंदाज ना करें।

साथ ही कुछ ऐसी बाते भी हैं जिनपर हम गौर नही करते जबकि वो हमारे लिए बेहद जरूरी होती हैं। आज हम आपको रसोई गैस सिलेंडर से समबन्धित एक ऐसी ही जरूरी बात बताने जा रहे हैं जो आपको इसके खतरों से बचा सकती है।

रसोई गैस सिलेंडर से समबन्धित जरूरी सुचना:-


कई बार ऐसा होता है कि हम जिन चीजों का इस्तेमाल कर रहे होते हैं उन्ही के बारे में हमें जरूरी जानकारी नही होती है और आज हम जो जानकारी आपको देने जा रहे हैं वो भी कुछ ऐसी है।ज्यादातर लोगों को इसके बारे में पता नही है। दरअसल हम बात कर रहे हैं गैस सिलेंडर पर लिखे एक विशेष कोड नम्बर की जो सिलेंडर के सबसे ऊपर रेगुलेटर के पास जो तीन पट्टी लगी होती है उन में से किसी एक पर लिखा होता है जैसे ऊपर दी हुई तस्वीर में दिखाया गया है।

आपका ध्यान भी कई बार इस नम्बर पर गया होगा पर क्या आपने कभी जानने की कोशिश की है कि ये नम्बर क्या है और क्यों लिखा होता है। अधिकांश लोगों को इस नम्बर का सही मतलब नही पता होता है जबकि ये नम्बर हर रसोई गैस उपभोक्ता की सुरक्षा की दृष्टि से बेहद उपयोगी है। चलिए हम आपको बताते हैं इसका सही मतलब।

दरअसल यह नंबर गैस सिलेंडर का एक्सपायरी डेट बताता है और इस एक्सपायरी डेट खत्म होने के बाद सिलेंडर कभी भी फट सकता है। इन नम्बरों की शुरूआत में A, B, C, D लिखा होता है जिसका मतलब यह है कि गैस कंपनी हर एक लेटर को 3 महीनों में बांट देते हैं, A का मतलब जनवरी से मार्च और B का मतलब एप्रिल से जून तक होता है ।उसी तरह से C का जुलाई से लेकर सितंबर और D का मतलब अक्टूबर से दिसंबर तक होता है ।इसके साथ इसमें वर्ष भी दिए जाते हैं उदाहरण के तौर पर A-17 का मतलब होता है कि गैस सिलेंडर का एक्सपायर डेट जनवरी से लेकर मार्च 2017 तक है। इसके बाद सिलेंडर का उपयोग करना खतरनाक हो सकता है और इन खतरों में शामिल है गैस लीकेज से लेकर सिलेंडर का फटना तक।ऐसे में आप जब भी नया गैस सिलेंडर लें तो ये नम्बर जरूर चेक कर लें।

गैस कम्पनियां ये नम्बर अंकित कर अपनी जिम्मेदारी निभाती है। हमें भी एक सजग उपभोक्ता के रूप में इस गौर जरूर करना चाहिए। चूंकि अभी भी ज्यादातर लोगों को इसके बारे में पता नही है इसलिए आप इस खबर को अधिक से अधिक साझा करें ताकि हर कोई इसके बारे में जान सकें। ये जानकारी लोगों की जान बचा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*